Joram | Devashish Makhija | A Letter | EkChaupal

Joram | Devashish Makhija | A Letter | EkChaupal

जोरम देखी। शरीर में सिहरन रही बहुत देर तक जब पिक्चर खतम हो गयी। हम चुप थे। सब के सब हॉल में। लोग बाहर जा रहे थे। लेकिन एक चुप्पी थी सबमें। मैं बैठी रही। मेरा दोस्त मेरे उठने का इंतज़ार कर रहा था। हॉल के एम्प्लॉयीज़ भी। पिक्चर खतम हो चुकी थी।

लेकिन दसरू तो अभी भी भाग रहा था।

Forgetting by Devashish Makhija | Power of Remembrance | EkChaupal

Forgetting by Devashish Makhija | Power of Remembrance | EkChaupal

बचपन से लेकर बूढ़े होने तक हम कितना कुछ भूल जाते हैं, भूल जाएंगे और कितना कुछ याद रहेगा… इन कहानियों के अंत में पहुँचकर लगा कि मैं बूढ़ा हो चुका हूँ और अपनी हाथ की रेखाओं को टटोलकर देख रहा हूँ कि क्या ये बचा रहेगा मेरे पास या फिर forgetting की सतत प्रक्रिया में कहीं खो जाएगा।

Pereira Maintains – Antonio Tabucchi | A Small Story | EkChaupal

Pereira Maintains – Antonio Tabucchi | A Small Story | EkChaupal

और फिर एक दिन अचानक पेरिएरा के मन में मृत्यु का खयाल आता है। वो एक नौजवान लड़के को अपने असिस्टेंट की नौकरी पर रखता है। उस लड़के ने मृत्यु की पढ़ाई की थी और उसका काम था कि वो मशहूर साहित्यकारों और लेखकों के लिए एडवांस में श्रद्धांजलियाँ लिखकर दे ताकि जब वो अचानक से मरें तो अगले दिन अखबार में छापने के लिए उनके पास श्रद्धांजलियाँ पहले से ही तैयार हो। इससे उनका अखबार बाकी अखबारों से श्रद्धांजलियाँ देने में आगे रहेगा।

Suzume : The Art of Great Storytelling | EkChaupal

Suzume : The Art of Great Storytelling | EkChaupal

This shift from individual to universal is something worth experiencing. It is the key ingredient. This makes the character go Woah! But more than the Suzume, we the people who have identified with her, cheered for her, rooted for her, cried with her, laughed at and with her are suddenly looking with our mouths ajar at what is happening. It makes me shiver, cry and feel goosebumps all over my body.

Notes on TAR | Cate Blanchett | EkChaupal

Notes on TAR | Cate Blanchett | EkChaupal

The whole sequence without any break… the way she carries herself in every frame. Every tone of her body, her voice, her silence… Cate Blanchett disappears… I can literally see nothing of her, yet she is there… where is the technique? Where is the art? The music in her acting… she is the character… she is Tar… and Tar is here…

Blindness by Jose Saramago | Stark Whiteness | EkChaupal

Blindness by Jose Saramago | Stark Whiteness | EkChaupal

Jose Saramango के उपन्यास Blindness में जैसे ही सब अंधे एक जगह इकट्ठे होते हैं और जानते हैं कि सारे नियम जिसमें वो शुरू से रहते आए हैं पीछे छूट गए हैं, सबके भीतर का सच बाहर आता है। अंधे हैं तो सब अंधे हैं। कोई किसी को नहीं देख सकता। कोई किसी का सच नहीं छू सकता। जब देखे जाने का डर हट जाता है तब हर कोई समाज और सभ्यता के नियम किनारे कर देता है। यहाँ तक के इंसान होने के जितने नियम हैं सब किनारे हो जाते हैं।

Stoner | John Williams Touching Existentialism Subtly | EkChaupal

Stoner | John Williams Touching Existentialism Subtly | EkChaupal

उनका नाम William Stoner था। देखा जाए तो उन्होंने कोई महान काम नहीं किया बस अपने प्रेम को पूरा करने में जीवन लगा दिया। उनके पूरे indifference के बीच कहीं बहुत कोमल प्रेम है जिसे वो हमेशा बचा कर रख लेना चाहते थे। कैसे होते हैं वो लोग जो कुछ नहीं कहते, बस सहते रहते हैं, उन्हें हार से फरक नहीं पड़ता और जीत चाहिए नहीं वो बस जीना चाहते हैं? क्या मैं Stoner को छू सकता हूँ। मैं उनका जीवन अपने शरीर पर ओढ़ लेना चाहता हूँ। उन्होंने जो नहीं कहा और जो भी जिया सब।